Ads Area

लॉक डाउन के बीच लाखों 15.78 लाख लोगों के खाते में श्रम विभाग ने भेजें एक-एक हजार रुपए...देखे जानकारी

लॉक डाउन ( Lockdown In Rajasthan ) के मध्यनजर श्रम विभाग ने 15 लाख 78 हजार निर्माण श्रमिकों के खाते में एक-एक हजार रुपए तात्कालिक सहायता के रूप में जमा करवाए हैं। ( Rajasthan Government ) मुख्यमंत्री ( CM Ashok Gehlot ) के निर्देश पर पंजीकृत प्रति निर्माण श्रमिक परिवार को एक हजार रुपए की तात्कालिक सहायता उपलब्ध कराई गई है।

जयपुर
लॉक डाउन ( Lockdown In Rajasthan ) के मध्यनजर श्रम विभाग ने 15 लाख 78 हजार निर्माण श्रमिकों के खाते में एक-एक हजार रुपए तात्कालिक सहायता के रूप में जमा करवाए हैं।
15 लाख 78 हजार को मिली सहायता ( Rajasthan Government )
श्रम राज्य मंत्री टीका राम जूली ने बताया कि कोरोना महामारी के कारण प्रदेश में चल रहे पूर्ण लॉक डाउन की स्थिति के मध्यनजर मुख्यमंत्री ( CM Ashok Gehlot ) के निर्देश पर पंजीकृत 15 लाख 78 हजार निर्माण श्रमिकों को आर्थिक सहायता उपलब्ध कराने के उद्देश्य से प्रति निर्माण श्रमिक परिवार को एक हजार रुपए की तात्कालिक सहायता उपलब्ध कराई गई है।
श्रम विभाग की किस किस को मिली 1 हजार की राशि की लिस्ट में अपना नाम देखने के लिए इस लिंक पर जाए।

                      clickhere
इसके साथ ही मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने प्रदेश के 30 लाख जरूरतमंदों के खाते में 2500 रुपये की राशि भेजकर सहायता की है।
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा भेजे गए 2500 रुपये की सहायता राशि प्रथम किश्त 1 हजार रुपये एवं दूसरी किश्त 1500 रुपये की ग्राम पंचायत एव गांव के अनुसार लिस्ट को देखने के लिए इस लिंक पर जाए- Clickhere
श्रम राज्य मंत्री ने बताया कि राज्य सरकार की ओर से जन आधार डाटा बेस के माध्यम से पंजीकृत निर्माण श्रमिक के बैंक खाते में यह राशि हस्तांतरित की गई है। उल्लेखनीय है कि भवन एवं अन्य संनिर्माण श्रमिक कल्याण मण्डल की ओर से सूचना एवं प्रौद्योगिकी विभाग के अंतर्गत गठित राजकॉम्प इन्फो सर्विसेज लिमिटेड (आरआईएसएल) को हस्तांतरित कराई गई थी।
श्रम विभाग तत्काल सहायता राशि की अपडेट के लिए इस लिंक पर जाए।

                       clickhere
छात्रवृत्ति हेतु आवेदन की सीमा 15 मई तक बढ़ाई
श्रम राज्य मंत्री ने बताया कि वर्तमान में कोरोना वायरस महामारी ( Coronavirus In Rajasthan ) के कारण संपूर्ण प्रदेश में राज्य सरकार द्वारा पूर्ण लॉक डाउन घोषित किया गया है। उन्होंने बताया कि निर्माण श्रमिकों के बच्चों को शैक्षणिक सत्र 2018-19 में परीक्षा उत्तीर्ण करने वाले छात्र छात्राओं के लिए निर्माण श्रमिक शिक्षा व कौशल विकास योजना के तहत छात्रवृत्ति हेतु आवेदन की सीमा 15 मई तक बढ़ाई गई उन्होंने बताया कि पूर्व में यह आवेदन तिथि 31 मार्च तक थी।
उन्होंने ने बताया कि हिताधिकारियों के बच्चों को छात्रवृत्ति का लाभ सुनिश्चित करने के उद्देश्य से यह समय सीमा बढ़ाई गई ताकि उन्हें छात्रवृति हेतु आवेदन करने में किसी प्रकार की कोई कठिनाई न हो सके।
Tags