Lockdown: तत्काल लॉकडाउन हटाने के पक्ष में नहीं है गहलोत सरकार, प्रवासीओं को उनके घर तक पहुंचाएगी, ऐसे करे ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन घर बैठे। - EDUCATION TAK

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner




Post Top Ad

Your Ad Spot

Tuesday, 28 April 2020

Lockdown: तत्काल लॉकडाउन हटाने के पक्ष में नहीं है गहलोत सरकार, प्रवासीओं को उनके घर तक पहुंचाएगी, ऐसे करे ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन घर बैठे।
जयपुर
राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का मानना है कि कोरोना संक्रमण के वर्तमान हालात के चलते लॉकडाउन एक साथ नहीं हटाना चाहिए। चरणबद्ध ढंग से लॉकडाउन हटाया जाना चाहिए। गहलोत चाहते हैं कि केंद्र सरकार लॉकडाउन का अधिकार राज्य सरकारों को दे। इसके बाद राज्य सरकारें धीरे-धीर अवसर देखकर लॉकडाउन लागू रखने या रखने का निर्णय ले सकती है।

कोरोना वायरस 30 लाख परिवारो के खाते में भेजी जा रही 2500-2500 रूपये की सहायता राशि , यहाँ से देखें ग्राम पंचायत अनुसार लिस्ट -clickhere
प्रवासी श्रमिकों की वापसी का रास्ता साफ
लॉकडाउन में देश के अलग-अलग राज्यों में फंसे प्रवासी श्रमिकों की घर वापसी होगी। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के प्रयासों के बाद अब सभी प्रवासियों की घर वापसी का रास्ता साफ हो गया है। प्रवासी मजदूरों को चरणद्ध तरह से उनके जिला मुख्यालयों तक पहुंचाया जाएगा। गहलोत ने अधिकारियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग करके प्रवासी राजस्थानियों को भी घर लाने का फैसला किया। गहलोत ने कहा कि प्रवासियों को घर आने के लिए पहले हेल्पलाइन नंबर 18001806127, ई मित्र पोर्टल, ई-मित्र मोबाइल एप या ई-मित्र कियोस्क पर अपना रजिस्ट्रेशन करवाना होगा। श्रमिकों के रजिस्ट्रेशन के बाद राज्य सरकार संबंधित राज्य सरकार से सहमति प्राप्त करेगी ।
राजस्थान के बाहर के राज्यो में रह रहे प्रवासी एवं राजस्थान में रह रहे अन्य राज्यो के प्रवासी अपने घर जाने के लिए App से घर बैठे रजिस्ट्रेशन करने के लिए नीचे दी गई लिंक पर क्लिक करे:-

                       clickhere
प्रवासी राजस्थानियों को घर लाने के लिए गम्भीर राजस्थान सरकार ने ईमित्र पर पोर्टल बनाया है जहाँ राजस्थान के बाहर रह रहे प्रवासी को रजिस्ट्रेशन करवाना होंगा उसके बाद सरकार सम्बंधित राज्य से सम्पर्क करके उनको अपने घर लाएगी।
प्रवासी बन्धु अपने घर आने के लिए वेबसाइट से घर बैठे रजिस्ट्रेशन करने के लिए नीचे दी गई लिंक पर क्लिक करे:-

                    clickhere
ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कैसे करें स्टेप by स्टेप प्रोसेस:-
1. सबसे पहले आप ऊपर दी गई लिंक पर  क्लिक करके साइट को open करेंगे।

2 . लिंक को खोलने के बाद सबसे पहले अपना नाम दर्ज करना है जो आपके पहचान के प्रूफ में मैच करना जरूरी है

3 . उसके बाद आपको अपनी लिंग का चयन करना है .

4 . उसके पश्चात आपको अपनी उम्र भरनी है ।

5 . उसके बाद आपको अपना मोबाईल नम्बर भरना है जिस पर सबमिट करते समय ओटीपी आएगा इसलिए मोबाइल आपके पास होना चाइये।
6 . उसके बाद आपके पास खुद का वाहन है तो yes का चयन करे अन्यथा no चयन करें खुद का वाहन है तो उसका प्रकार चयन करें कि दोपहिया है या चार पहिया ।

7 . उसके बाद आप कब रवाना होने वाले है उसकी तारीख चयन कर ले ध्यान रहे रजिस्ट्रेशन के 3 - 4 दिन बाद कि ही चयन करें जिससे आप वहाँ से निकले उससे पहले आपको approval मिल जाए ।

8 . उसके बाद आप जहाँ जाना चाहते है राजस्थान में वहाँ का एड्रेस भरे गांव से है तो rural ओर शहर से है है तो urban पर संलेक्ट करके अपना जिला , तहसील , पंचायत समिति , ग्राम पंचायत और गांव सलेक्ट कर ल ओर पिन कोड भरकर अंग्रेजी मे अपने गांव या कॉलोनी एवं वार्ड नम्बर भर दे ।
9 . उसके बाद आप अभी वर्तमान में जहाँ है उस राज्य को सलेक्ट कर ले एवं जिले का चयन करके कॉलोनी , एरिया का नाम व मकान नम्बर भर लेवे।

10 . उसके बाद नीचे चेक बॉक्स में क्लिक करके submit पर क्लिक कर दे यह करते ही आपने जो नम्बर दिया उस पर एक otp आया है वो लिखकर ok कर दे आपके पास स्क्रीन पर Tokan नम्बर आ जायेगा जो अपने पास रख ले जिससे आप अपनी एप्लिकेशन का स्टेटस चेक कर सकेंगे 1 - 2 दिन में आपका एप्लिकेशन अगर सम्बधित राज्य सरकार द्वारा स्वीकार कर लिया जाएगा तो आपके पास मेसेज आ जायेगा ओर आप टोकन नम्बर लगाकर अपना पास डाउनलोड कर सकेंगे और खुद का वाहन नहीं है तो फोन कॉल द्वारा आपको कहा पर कितनी तारीख को बस मिलेगी उसकी जानकारी मिल जाएगी ।

गहलोत का कहना है कि प्रदेश में कोरोना जैसी महामारी से बचने के लिए काफी प्रयास किए गए और इनमें सफलता भी मिली। गहलोत ने सरकार के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ अनौपचारिक चर्चा में लॉकडाउन आगे नहीं बढ़ाने के संकेत दिए हैं। रविवार को अधिकारियों के साथ बातचीत से पूर्व गहलोत ने जिलों से वरिष्ठ नागरिकों व जिला कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षकों से फीडबैक लिया। सोमवार को प्रधानमंत्री के साथ हुइ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में गहलोत ने राज्यों को एक लाख करोड़ का राहत पैकेज और एफसीआई के पास मौजूद अतिरिक्त गेहूं वितरित करने की मांग की।
नियमों का उल्लंघन किया तो होगी कार्रवाई
सीएम गहलोत ने कहा कि राज्य सरकार सभी प्रवासियों को सकुशल उनके घर पहुंचाना चाहती है, लेकिन संक्रमण से बचाव के लिए उनका सहयोग महत्वपूर्ण है. कोई भी व्यक्ति नियमों का उल्लंघन करेगा तो सख्त कार्रवाई की जाएगी. उन्होंने कहा कि सरकार ने क्वारेंटाइन में रहने वाले सभी लोगों की कोविड-19 क्वारेंटाइन अलर्ट सिस्टम, राज कोविड-19 इन्फो एप के माध्यम से ऑनलाइन ट्रैकिंग की व्यवस्था की है. यदि कोई व्यक्ति क्वारेंटाइन एरिया से बाहर जाता है तो उसके विरूद्ध सख्त कार्रवाई की जाएगी. सीएम ने अपील की है कि ग्रामवासी किसी भी स्थान से आए व्यक्ति की सूचना स्थानीय प्रशासन को दें, ताकि क्वारेंटाइन के नियम की पालना करवाई जा सके।

पर्याप्त बसों और स्क्रीनिंग की व्यवस्था के निर्देश
सीएम ने प्रवासियों को राज्य में लाने के लिए परिवहन विभाग को बसों की पर्याप्त व्यवस्था करने के निर्दश दिए हैं. साथ ही चिकित्सा विभाग को बाहर से आने वाले हर प्रवासी की कोरोना स्क्रीनिंग और जांच की व्यवस्था करने के निर्देश दिए. स्थानीय जिला प्रशासन को राज्य की सीमाओं पर अस्थायी आवास और भोजन आदि की व्यवस्था का प्रबंध करने के निर्देश दिए हैं. मुख्यमंत्री ने प्रवासी श्रमिकों से अपील की है कि कोरोना महामारी के प्रकोप को देखते हुए आवागमन में सहूलियत के लिए अनुशासन के साथ प्रशासन का पूरा सहयोग करें. उन्होंने कहा कि सभी लोग अपने साथ आवश्यक पहचान पत्र, अगर पूर्व में कोरोना जांच की गई है तो उसके दस्तावेज साथ रखें. साथ ही कोई जानकार न छुपाएं.

Post Top Ad